What is Speaker in Hindi – स्पीकर क्या है?

इस जानकारी में आप जानेंगे की स्पीकर क्या है? What is Speaker in Hindi, स्पीकर कैसे काम करते हैं?External speaker की क्या आवश्यकता है? स्पीकर के प्रकार, types of speaker in Hindi.

What is Speaker?

Speaker एक कंप्यूटर हार्डवेयर output device है, जिसका उपयोग कंप्यूटर से connect करके ध्वनि को सुनने के लिए किया जाता है।
कुछ विशेष प्रकार के स्पीकर कंप्यूटर से connect करने के लिए बनाये गए है।
जबकि अन्य speakers को किसी भी डिवाइस से जोड़ा जा सकता है।

कंप्यूटर स्पीकर से निकलने वाली ध्वनि के signals कंप्यूटर “sound card” द्वारा बनाए जाते हैं।

IBM ने 1981 में पहला internal computer बनाया जिसकी sound quality ज्यादा अच्छी नहीं थी।

ज्यादातर पहले की मॉनिटर में स्पीकर नीचे से दाएं और नीचे से बाएँ या फिर मॉनिटर के सामने लगाए जाते थे। लेकिन आजकल मॉनिटर में बाईं ओर तथा दाईं ओर speaker लगाया जा रहा है।

How do speakers work – स्पीकर कैसे काम करते हैं?

स्पीकर electromagnetic तरंगों को ध्वनि तरंगों में बदलता है। कंप्यूटर या ऑडियो receiver के द्वारा यह इनपुट प्राप्त करता है।

इनपुट दो प्रकार का हो सकता analog या digital, एनालॉग स्पीकर आसानी से एनालॉग electromagnetic तरंगों को ध्वनि तरंगों में बदल सकता है।

लेकिन डिजिटल स्पीकर डिजिटल सिग्नल को एनालॉग सिग्नल में बदलता है, फिर एनालॉग ध्वनि तरंगें निकलती है। Frequency द्वारा स्पीकर से निकलने वाली ध्वनि के उतार चढ़ाव नापा जाता है।

What is speaker in Hindi में आपने जाना की पहले के कंप्यूटर में स्पीकर अंदर (internal) होते थे। लेकिन आगे आप जानेंगे की बाहरी (external) स्पीकर की क्या आवश्यकता है।

External speaker की क्या आवश्यकता है?

आजकल लैपटॉप, स्मार्टफोन और अन्य डिवाइस में स्पीकर लगे रहते हैं। तो आपको external speaker की आवश्यकता नहीं पड़ती।
लेकिन जब आपको तेज sound या आसपास sound की जरुरत होती है। तो फिर आप इसका उपयोग कर सकते है।

External speaker high quality साउंड का उत्पादन करते जोकि हमारे आसपास जोर की आवाज करता है।
इसको हम कंप्यूटर या अन्य डिवाइस से जोड़ सकते है।

पहला external speaker का आविष्कार “अबिनावन पुराचि दास” द्वारा 1991 किया गया था।

अब आप बहुत ही अच्छे से जान गए होंगे की स्पीकर क्या है (what is speaker?) आगे आपके लिए यह जानना जरुरी है की स्पीकर कितने प्रकार के होते है।

Types of speakers – स्पीकर के प्रकार

Sub-woofers

Sub-woofers
Sub Woofers

Sub-woofer बहुत कम frequency की ध्वनि वाले स्पीकर होते है। इसकी सीमा (range) 20 से 200 Hz के बीच होती है।

आजकल कुछ Desktop स्पीकर सिस्टम sub-woofer के साथ आते है।

इसका उपयोग cars या home theater में होता है।

Studio Monitor
Studio Monitor

Studio Monitors

What is speaker in Hindi का एक प्रकार है, Studio Monitor
जोकि स्वर और संगीत दोनों को स्पष्ट रूप से पेश करने की क्षमता के
लिए जाना जाता है।
यह संगीत सुनने और खेलने के उपकरणों के लिए प्रयोग में लाए जाते है।

यह दो प्रकार के होते है powered और UN-powered स्टूडियो मॉनिटर।

Loudspeakers

Loudspeaker घरेलू स्पीकर होते हैं। यह पुराने समय में रेडियो, टेलीविजन और स्टीरियो से ध्वनि प्राप्त करने का एकमात्र तरीका था। Loudspeaker पुरानी पीढ़ियों के जीवन में एक प्रमुख आधार है।

Loudspeakers
Loudspeakers

लाउडस्पीकर में ज्यादातर एक woofer, mid-range speaker और एक tweeter होता है। जिससे ध्वनि की पूरी श्रृंखला का निर्माण होता है।
जिससे कई अलग-अलग स्पीकर खरीदने की आवश्यकता नहीं होती।

यह ज्यादातर मंच प्रदर्शन या कराओके (karaoke) में उपयोग में लाए जाते है। जिन्हे फिट करने के लिए ज्यादा जगह की आवश्यकता होती है।
लेकिन आज कल यह साइज में छोटे भी आते है।

जो आपकी पॉकेट शैलियों में फिट हो जाते है, और अच्छी quality की ध्वनि का उत्पादन करते है।

Floor Standing Speakers

Floor Standing Speakers
Floor Standing Speakers

इस प्रकार के स्पीकर को फर्श पर खड़ा कर सकते हैं। यह लगभग 4 फीट लंबा होता है। जिस कमरे में इन्हें रखा जाता है।
वहाँ यह स्पीकर पूरी तरीके से दिखाई देते हैं। इसको रखने के लिए space की आवश्यकता होती है।

Floor standing speaker लाउड स्पीकर के समान एक tweeter, mid-range और एक woofer प्रदान करते है।
अधिकांश floor standing speaker UN-powered होते है। इन्हे receiver और amplifier की आवश्यकता होती है।

Bookshelf Speaker

Bookshelf Speaker
Bookshelf Speaker

What is speaker in Hindi का एक प्रकार Bookshelf speaker भी है, जिसे एक होम थिएटर स्पीकर भी कहा जाता है। यह मध्यम आकार के स्पीकर होते हैं।
इस प्रकार के स्पीकर को टेलीविजन के दोनों ओर या किसी कमरे के चारों तरफ रखा जाता है।

यह स्पीकर लगभग 5 इंच लंबे और दो स्पीकर, एक mid range और एक tweeter के साथ होते हैं।
फ्लोर स्टैंडिंग स्पीकर के समान इन्हे amplifier और receiver की आवश्यकता होती हैं।

Central Channel Speakers

Central channel speaker की बात करें तो इस प्रकार के स्पीकर studio monitor के समान quality रखते है। इन स्पीकर को television के ऊपर या उनके सामने रखा जाता है। लेकिन center speaker की आवश्यकता ज्यादा नहीं होती।

Central channel speaker
Central Channel Speaker

In-Wall/In-Ceiling Speakers

In-Wall या In-Ceiling Speakers को स्थापित करना मुश्किल हो सकता है। क्योंकि यहां बजट के अनुकूल नहीं है।
लेकिन आपका जब कमरे से कमरे में चलना और आपके आसपास संगीत का होना वास्तव में एक अच्छा अनुभव प्रदान करता है

In Wall speaker in ceiling speaker
In Wall Speaker

In-Wall ceiling speaker घर के लिए बहुत अच्छा है। क्योंकि छत के माध्यम से तारों को प्राप्त किया जा सकता है, और उन्हें दीवार में फिट किया जाता है।

ज्यादातर यह स्पीकर फ्लश को छुपाने के लिए कवर के साथ आते है। यह बैठने वाली जगह पर अच्छी quality sound प्रदान करते है।

On Wall Speakers

On Wall speaker का फायदा यह है कि, आप अपनी छत या दीवार पर बड़ा छेद करने से बच सकते है, और इसे जहाँ चाहे वहां फिट कर सकते है।

Floor standing speaker की जगह आप on wall speaker का उपयोग कर सकते है। क्योकि इसे फर्श पर रखने की जरुरत नहीं है, और काम स्पेस में आप इसका प्रयोग कर सकते है।

On Wall speaker

इसको स्थापित करना आसान है। लेकिन इसकी तारों को छिपाना कठिन हो सकता है। यह स्पीकर कई प्रकार के डिजाइन और रंगो में आते हैं,
जोकि आपके दिवार के रंग से match करते है।

यह UN-powered speaker होते है। इसलिए इसको plug in करने के लिए amplifier और receiver की आवश्यकता होती है।

Bluetooth Speakers

What is speaker in Hindi में आज कल का सबसे अधिक उपयोग होने वाला स्पीकर है, Bluetooth speaker जोकि एक wireless technology है।
जिसे हम किसी भी ऑडियो डिवाइस से कनेक्ट कर सकते हैं, और यह एक portable डिवाइस है, जोकि हमें high quality साउंड प्रदान करता है।

कुछ Bluetooth speaker को आप outlet में plug कर सकते है, और wireless स्पीकर को चार्ज करके उपयोग कर सकते है। यह अलग-अलग आकार और रंगों में आते है।

Bluetooth speaker
Bluetooth Speaker

Outdoor Speakers

Outdoor speaker
Outdoor speaker

Outdoor speaker weatherproof स्पीकर होते है। यह स्पीकर box गर्मी और सीलन का सामना करने के लिए बनाये गए है। आप इस प्रकार स्पीकर को एक सिस्टम या एक स्पीकर के रूप में खरीद सकते है।

लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है, की आप क्या चाहते है, पुरे यार्ड या आंगन को कवर करने के लिए कुछ सिस्टम एक sub-woofer और कई mid range, tweeter के साथ आते है।

आपने जाना –

What is speaker in Hindi में आप जान गए होंगे की स्पीकर क्या है, स्पीकर कैसे काम करते हैं, External speaker की क्या आवश्यकता है? स्पीकर के प्रकार, types of speaker in Hindi के बारे में और इससे सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है।

यदि यह जानकारी आपके लिए उपयोगी हुई है, तो इसे अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें।

   Output device of computer

Basic Computer Course (BCC) from Scratch in Hindi (Free)

1 thought on “What is Speaker in Hindi – स्पीकर क्या है?”

Leave a Comment