10 Types of Computer Virus in Hindi – कंप्यूटर वायरस के प्रकार

Types of Computer virus in Hindi में आप जानेंगे की कौनसा वायरस किस प्रकार हमारे कंप्यूटर में प्रवेश करके सिस्टम के किस हिस्से को नुकसान पहुँचता है, उससे कैसे बचा जा सकता है?

Computer virus एक प्रकार का मैलवेयर है। अगर यह हमारे कंप्यूटर में प्रवेश कर जाये, तो यह खुद की कॉपी तैयार करके पुरे कंप्यूटर में फैलता है। जिससे हमारा डाटा असुरक्षित हो जाता है।
कंप्यूटर वायरस हमारे सिस्टम को अलग-अगल तरीके से संक्रमित करता है, इसलिए यह अलग-अलग प्रकार के होते है।

कंप्यूटर वायरस क्या है?

Types of Virus on Computer – कंप्यूटर वायरस के प्रकार

Boot sector virus

Boot sector virus या Boot virus कंप्यूटर में तब प्रवेश करता है। जब कंप्यूटर बूट करता है। यह बूट सेक्टर प्रोग्राम को malicious version में बदल देता है और
यह वायरस हार्ड डिस्क या अन्य स्टोरेज डिवाइस में स्टोर होकर बूट सेक्टर को बदलता है।
अगर यह वायरस boot-up process के बाद हमारे कंप्यूटर में प्रवेश करे तो यह कंप्यूटर को नुकसान नहीं पंहुचा सकता।

लेकिन कंप्यूटर बंद होने के बाद रिमूवल ड्राइव को नहीं निकला और पुनः कंप्यूटर चालू करने पर यह बूटिंग process के समय हमारे कंप्यूटर को संक्रमित कर सकते है।
ज्यादातर यह removable device जैसे की USB द्वारा फैलता है इस वायरस को हटाने के सिस्टम को format करने की आवश्यकता होती है।

Overwrite virus

Types of computer virus का एक प्रकार Overwrite वायरस भी है। यह कंप्यूटर सिस्टम की फाइल्स को नुकसान पहुँचता है। जोकि सिस्टम की फाइल्स को malicious code में बदलता है।
यह फाइल का आकर बदले बिना उसमे लिखी जानकारी को पूरी तरह बदल सकता है,
और delete भी कर सकता है। इस प्रकार संक्रमित फ़ाइलों को सिस्टम से हटाना ही बेहतर है।
Overwrite virus ईमेल द्वारा कंप्यूटर में प्रवेश करता है इसको पहचाना मुश्किल हो सकता है।

Malicious code: यह एक स्क्रिप्ट है, जिसका उद्देश्य कंप्यूटर सिस्टम को नुकसान पहुँचना है।

Macro virus

मैक्रो वायरस के नाम से बता चलता है की यह मैक्रो कमांड या प्रोग्राम को संक्रमित करते है।
जैसे की MS Word, Excel और PowerPoint एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में macros का उपयोग किया जाता है।

Macro computer virus एक document file के मैक्रो क्रम में malicious code को जोड़ देते है,
और यह डॉक्यूमेंट फाइल जब अन्य कंप्यूटर में खोली जाती है।
तो यह उस फाइल के द्वारा कंप्यूटर में प्रवेश करता है।

क्योंकि इस प्रकार की फाइलों का आमतौर पर उपयोग किया जाता है और यह ईमेल माध्यम से फैला जाता है।
Macro virus को पहले “concept” के नाम से जाना जाता था।

जोकि जुलाई 1995 में खोजा गया तब माइक्रोसॉफ्ट 6.0 और माइक्रोसॉफ्ट 95 के डॉक्यूमेंट को इससे होने वाले नुकसान से बचने के लिए SaveAs option का प्रयोग किया गया।

Macro: मैक्रो command का set होता है। जिसका उपयोग उस कमांड को दोराहने के लिए किया जाता है। एक बार कमांड देकर मैक्रो बना लिया जाता है।फिर उसे किसी भी डॉक्यूमेंट फाइल बार-बार run किया जा सकता है।

Resident virus

Types of computer virus का एक प्रकार Resident virus है, जोकि कंप्यूटर की मेमोरी में होते है। जब ऑपरेटिंग सिस्टम लोड या शुरू होता है।
तो या वायरस active हो जाते है और कंप्यूटर की फाइल्स और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को नष्ट कर देते है।

Non-Resident virus

Non-Resident वायरस Resident वायरस के विपरीत होते है। यह कंप्यूटर मेमोरी में स्टोर नहीं होते है।
यह तब फैलते है जब किसी फाइल को execute करा जाता है या खोला जाता है।
एक प्रकार से non-resident virus, executable virus के समान कार्य करता है।

Multipartite virus

Multipartite virus कई प्रकार से संक्रमित करता है यह मास्टर बूट रिकॉर्ड (MBR) में फैलता है।
जिससे यह वायरस हार्ड ड्राइव में स्टोर होकर executable files को संक्रमित करता है।

Polymorphic computer virus

इस प्रकार के वायरस को एक साधारण antivirus के द्वारा पहचना कठीन हो जाता है, क्योंकि यह अपनी हजारों copies खुद बनता है और हर बार अपने signature pattern को बदल देता है।

आमतौर पर polymorphic virus स्पैम, संक्रमित साइट और अन्य मैलवेयर का उपयोग करने से फैलते है, जोकि हमारे डाटा टाइप्स और फंक्शन्स को प्रभावित करते है।

File Infector Virus

यह उन files को infected करता है जो प्रोग्राम फाइल के अंदर आती है। जैसे की .com और .exe extension वाली फाइल्स।
जब यह संक्रमित फाइल execute होती है तो file infector virus एक्टिव हो जाते है और फाइल को पूरी तरह नष्ट कर देते है।

Cavity Virus

Types of computer virus में cavity वायरस को “Spacefiller virus” भी कहा जाता है। यह वायरस किसी भी फाइल के खली हिस्से में खुद को install करता है।
Cavity virus का बता लगाना बहुत मुश्किल हो जाता जाता है, क्योकि यह फाइल का आकर बदले बिना फाइल में प्रवेश करता है या खली हिस्से को भरता है।

Types of computer virus in hindi
Types of computer virus

CMOS Virus

यह वायरस CMOS को संक्रमित करता है और उसमे स्टोर इनफार्मेशन मिटा या रिसेट कर सकता है।
CMOS का पूरा नाम complementary metal-oxide semiconductor है,
जोकि कंप्यूटर के अंदर बैटरी द्वारा चलाया गया एक चिप होता है।
इसका उपयोग इनफार्मेशन को स्टोर करने के लिए किया जाता है।

Companion Virus

कम्पैनियन वायरस खुद को ऐसी फाइल में स्टोर करता है, जिसका नाम किसी प्रोग्राम फाइल के सामान होता है।
जब वह फाइल execute होती है तो यह वायरस आपके कंप्यूटर को संक्रमित कर देता है और हार्ड ड्राइव से फाइल को हटा देता है।
पहले Companion virus को ग्लोब वायरस कहा जाता था। जिसका पता 1992 में चला था।

Encrypt virus

इस वायरस को पहचना मुश्किल होता है। यह दो प्रकार के होते है- एक encrypt वायरस बॉडी और दूसरा decrypt,
Encrypt वायरस execute होने पर वायरस को decrypt करता है। Decryption के बाद यह वायरस खुद को दोहराने और निवासी बनने की क्षमता रखता है।
इसके अलावा या वायरस crypto locker से अलग होता है। जोकि एक कंप्यूटर वायरस है।

यह हार्ड ड्राइव को encrypt करता है और फिरौती के लिए रहता है।

Rabbit computer virus

यह वायरस कंप्यूटर को slow और crash करने का कारण बन सकता है, क्योंकि या वायरस नई प्रक्रिया बनाता और हर एक नई प्रक्रिया आगे एक और नई प्रक्रियाएँ बनाती जाती है।

यह वायरस तब तक प्रक्रिया बनाता है जब तक कंप्यूटर में मौजूद संसाधनों को खत्म नहीं कर देता।
Rabbit virus को wabbit या fork bomb के नाम से भी जाना जाता है।

एक प्रकार से कहे सकते है, यह वायरस अनंत लूप चलता है और बहुत सारे CPU cycle और ऑपरेटिंग सिस्टम के संसाधनों का उपयोग करके समाप्त करता है।

Stealth virus

यह वायरस ऑपरेटिंग सिस्टम की प्रक्रियाओं पर हमला करता है। यह एक प्रकार का गुप्त वायरस है,
जोकि partitions, files और boot sectors में छिपा रहता है।
इसलिए इस वायरस का पता लगाना बहुत कठिन होता है यह खुद को एंटीवायरस या एंटी-मैलवेयर से छिपाता है।

History of computer in Hindi
Computer network in Hindi
All computer shortcut keys in Hindi

आपने जाना –

Types of computer virus in Hindi में आपने जाना की कंप्यूटर वायरस कितने प्रकार के होते है। किस प्रकार यह हमारे कंप्यूटर को संक्रमित करते है। और कंप्यूटर वायरस के प्रकार, types of computer virus, बूट सेक्टर वायरस क्या है?, पोलीमॉर्फिक वायरस क्या है?, ओवरराईट वायरस क्या है?, मैक्रो वायरस क्या है? आदि।
आशा करते है की Types of virus on computer के बारे में दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।
यदि इससे जुड़े कोई प्रश्न के उत्तर आप जानना चाहते है तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करें।

इंटरनेट क्या है ?

इंग्लिश में जानकारी के लिए क्लिक करें

Leave a Comment